Monday, August 2

पूर्व एसपी मनीष अग्रवाल जबरन वसूली के आरोप में हुए गिरफ्तार

Pinterest LinkedIn Tumblr +

राजस्थान//राजस्थान के दौसा जिले के पुलिस कप्तान रह चुके अधिकारी मनीष अग्रवाल खुद जबरन वसूली और रिश्वतखोरी के मामले में फंस गए एंटी करप्शन ब्यूरो ने पुलिस अधिकारी मनीष को जयपुर से गिरफ्तार कर लिया
राजस्थान के दौसा में तैनात रहे पूर्व पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल को एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने गिरफ्तार कर लिया उनकी गिरफ्तारी की वजह एक कंपनी से जबरन पैसा वसूली बताया जा रहा है उनके साथ ही एक और शख्स को गिरफ्तार किया गया है जिसे दलाल बताया जा रहा है जानकारी के मुताबिक दोसा जिले के पुलिस कप्तान रह चुके मन मनीष अग्रवाल खुद जबरन वसूली और रिश्वतखोरी के मामले में फंस गए एंटी करप्शन ब्यूरो ने पुलिस अधिकारी मनीष को जयपुर से गिरफ्तार कर लिया है एसीबी की टीम ने मनीष अग्रवाल के साथ नीरज नामक एक दलाल को भी गिरफ्तार किया है इन दोनों पर आरोप है कि उन्होंने मिलकर सड़क बनाने वाली एक कंपनी से जबरन पैसा वसूल किया है अब इन दोनों से पूछताछ किए जाने की तैयारी है आगे बता दें कि नवंबर 2020 में जैसलमेर में एक रिटायर्ड आर ए एस अधिकारी को बाड़मेर में ₹5लाख रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया था अधिकारी के साथ यह दलाल को भी गिरफ्तार किया गया था सेवानिवृत्त आर ए एस को भूतपूर्व सैनिकों तथा पौंग विस्थापितों को आवंटित की जाने वाली जमीनों में दलाल के माध्यम से ₹5 लाख रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया था इसी तरह से फरवरी 2020 में राजस्थान में एंटी करप्शन ब्यूरो ने परिवहन विभाग के 8 अधिकारियों और 7 दलालों को गिरफ्तार किया था इस कार्रवाई में करीब डेढ़ करोड़ रुपए नगद बरामद हुए थे हालांकि एस परिवहन मंत्री ने एंटी करप्शन ब्यूरो पर ही सवाल उठा दिए हैं।

Share.

About Author

समाचार और विज्ञापन के लिए संपर्क करें। editor@hallabol.co.in

Leave A Reply